• Helpline Number : +91-9166960485 There you Can Find Every Problems Solution.

गुंजा के बारे में तो आप सभी जानते ही होंगे | यह एक तरह की लता का बीज ही है जो लाल, काले और सफेद रंग में उपलब्ध है | इसके अन्य चर्चित नाम भी है | जैसे– हब, सुफेद, रत्ती, चश्मेखरूस, धुंधची, लडय्या, चोटली आदि | दिखने में तो यह है छोटी लेकिन इसके चमत्कार है बड़े | लाल, काला और सफेद अलग-अलग रगों में मिलने वाले इन दानों के चमत्कार भी अलग-अलग है | प्रयोग में लाने के पहले इन्हें अभिमंत्रित करना जरूरी है |

गुंजा अभिमंत्रित कैसे करें

गुंजा को अभिमंत्रित करने के लिए सबसे पहले उन्हें शुद्ध करें | इसके लिए आप दूध में गंगाजल मिलाकर एक बर्तन में रखे और इसमें गुंजा के दानों को डाल दे | इसे अच्छी तरह हिलाकर साफ करे | अब इन दानों को निकाल कर दूसरे बर्तन में डालें और ऊपर से थोड़ा स्वच्छ पानी डालकर उसे अच्छी तरह साफ करें | फिर इन्हें बाहर निकाल कर शुद्ध कपड़े से सुखा लें | उसके बाद दानों को हाथ में लें और सुमेरू वाले स्थान पर तिलक करे रोली से | इसके बाद इन पर पुष्प और चावल चढ़ाएं | अब ईश्वर से निवेदन करते हुए प्रार्थना करें कि उन अभिमंत्रित किए जाने वाली गुंजा को शक्ति मिले |

गुंजा को अभिमंत्रित करने के लिए नीचे दिए गए मंत्र का प्रयोग करें —

"ओम् उडामरेश्चाय सर्व जगमेहनाय अं आ इं ई उं ऊं ऋं ऋं फट स्वाहा"

· सफेद गुंजा को अभिमंत्रित करने के लिए शुक्ल पक्ष की चतुर्थी का चयन करें | इस दिन प्रात: काल स्नानोपरान्त स्थानांतरण पूजा स्थल पर बैठ जाएं हाथ में कुछ दाने सफेद गुंजा के रख कर | अब १०८ बार ऊपर दिए गए मंत्र का जाप करें | प्रत्येक बार मंत्र समाप्त होने के बाद हाथ में लिए हुए गुजां पर फूंक मारते जाए तथा उस पर लौंग/इलाइची/ मिश्री का दाना चढ़ाते जाए | दूसरी बार फूक मारने के पहले, पहले वाले दाने को किसी दूसरे बर्तन पर रखिए | इस क्रिया को लगातार १०८ बार मंत्र बोलते हुए दोहराएं |

· लाल या काली गुंजा को अभिमंत्रित करने के लिए आप अमावस्या, ग्रहण काल, होली, दीपावली, दशहरा या पूर्णिमा के दिन का चयन करें | समय रखें अर्धरात्रि का | नहा-धोकर खुले आसमान के नीचे काले रंग के आसन को बिछाकर हाथ में काली या सफेद गुंजा के कुछ दाने लेकर ऊपर दिए गए मंत्र का ही जाप करे १०८ बार | हर बार दानों पर फूंक मारे व ऊपर दी गई विधि की तरह ही लौंग या इलाइची या मिश्री की क्रिया को दोहराए |

. बस अभिमंत्रित हो गए गुंजा के ये दाने |

गुंजा का प्रयोग/आकर्षण सम्मोहन करने के लिए

१) काली गुंजा के बीज को घस लें | अब इस बनी हुई स्याही से उस व्यक्ति का नाम लिखें जिसे आपको परास्त करना है | कुछ दिन बाद गुंजा को कहीं दबा दें |

२) कभी-कभी लाल रंग की गुंजा की माला को धारण करने से सामने वाला व्यक्ति सम्मोहित हो जाता है |

३) सफेद गुंजा को कपड़े में बांध ले शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली चतुर्थी को | इसे अपने पूजा-स्थान में स्थापित करें | प्रतिदिन गणेश जी का ध्यान कर इस पर चावल और फूल चढ़ाए | परस्पर सौहाद्र बना रहेगा परिवार के सदस्यों में |

४) लाल गुंजा के ११ दाने तथा ५ दाने सफेद गुंजा के धनतेरस के दिन ले लें | अब इसके साथ नागकेसर को रखें एक डिब्बी (धातु की) में बंद करके | दीपावली वाले दिन विधि विधान से इसकी पूजा करें | आपका आर्थिक पक्षी उज्ज्वल रहेगा |

५) ताबीज की तरह गुंजा की जड़ को बाँध दे गर्भवती स्त्री के कमर में | प्रसव के वक्त वह सुरक्षित रहेगी तथा प्रसव पीड़ा का अनुभव भी कम होगा |

६) सफेद गुंजा के दाने को सोते वक्त अपने तकिये के नीचे रख कर नीचे दिए गए मंत्र का जाप करे | शत्रु के भय से मुक्ति मिलेगी | मंत्र है–"ॐ नमो अग्नि रूपाय ह्नीं नमः |"

७) "ओम् हौं जूं स: " इस मंत्र का जाप करें होलिका दहन के समय और ११ बार परिक्रमा करें उल्टी अग्नि की होलिका दहन के समय | हर परिक्रमा के बाद एक गुंजा अपने सिर के ऊपर से वारकर अग्नि में प्रजव्वलित करें | स्वास्थ्य में लाभ शीघ्र ही शुरू होगा |

८) गुंजा की ब्रासलेट उसके बनवाकर उसे कलाई पर पहने | नजर दोष से मुक्ति मिलेगी |

९) ५ लाल रंग की गुंजा को भिगोकर रख दें शहद में | ५ दिन तक रोज कुछ समय के लिए इन्हें देख कर आकर्षित करने वाले व्यक्ति का ध्यान करें | अब पाँचवे दिन उसे किसी एकांत स्थान देखकर दबा दे शहद सहित |

लाल/काली गुंजा से वशीकरण टोटके

१) गूंजा के कुछ दानों को अभिमंत्रित कर ले | अब इन अभिमंत्रित दानों को उस व्यक्ति के कपड़ों में रख दें जिसे आपको वश में करना है | जब तक यह दानें बंधे रहेंगे व्यक्ति के कपड़ों से, वह आपके वशीकरण से प्रभावित रहेगा |

२) मिट्टी के एक दीपक में शहद डालें | अब इसमें ५ दाने गुंजा के डाल दे उसका नाम लेकर जिसे आप वश में करना चाहते हैं | तत्काल प्रभाव देखने को मिलेगा |

३) गुंजा की जड़ को घसकर पेष्ट बना ले | इससे तिलक लगाकर जिसके सामने आप जाएगें वह आप से वशीभूत हो जाएगा |

४) गंगाजल अथवा कुआं के जल मे भीगों दे गूंजा की जड़ को | अब इसे आप चंदन की तरह घस लें और अपने माथे पर लगा लें | इसे लगा कर आप जिस सभा स्थल अथवा समारोह पर जाएंगे वहां पर सभी आप से वशीभूत हो जाएगें |

५) जिस व्यक्ति को आप अपने वश में करना चाहते हैं उसके घर में रात के समय अभिमंत्रित किए हुए गुंजा के कुछ दाने चुपचाप फेंक दे मंगलवार या शनिवार के दिन | वह आप के वशीभूत हो जाएगा |

Copyright 2019, bhvishyasagar.com