• Helpline Number : +91-9166960485 There you Can Find Every Problems Solution.

घर एक ऐसी जगह होती है जहां इंसान अपनी जिंदगी व्यतीत है। इसका सुखी और आरामदायक होना जरूरी है। लेकिन कई बार हमारी छोटी-छोटी गलतियों की वजह से तो कभी गलत निर्माण नक्शे की वजह से महंगे घर भी नुकसान का सौदा साबित होते हैं। इस घाटे को घटाने के लिए अगर आप पूरे घर को नहीं बदलना चाहते हैं तो इन छोटे लेकिन उपयोगी टिप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं

घर के लिए फेंग शुई टिप्स

सूर्य की रोशनी: फेंग शुई और वास्तु दोनों के अनुसार घर में सूर्य की प्राकृतिक रोशनी जरूरी है।

दरवाजा: जहां तक संभव हो पूर्व एवं उत्तर मुखी भवन का मुख्य द्वार पूर्वोत्तर अर्थात ईशान कोण में बनाएं। पश्चिम मुखी भवन पश्चिम-उत्तर कोण में व दक्षिण मुखी भवन में द्वार दक्षिण-पूर्व में होना चाहिए।

बंद घड़िया: घर में जो घडिय़ां बंद पड़ी हों, उन्हें या तो घर से हटा देना चाहिए या फिर चालू कर देना चाहिए। ऐसी बंद घड़ियां बंद तकदीर को बुलाने के लिए जानी जाती हैं।

झाडू: घर में झाडू का उपयोग करने के बाद उसे इस तरह रख देना चाहिए कि किसी की इस पर नजर ना लगे। फेंग शुई के अनुसार झाडू का संबंध घर के धन और संपत्ति से होता है ऐसे में अगर सबकी नजर आपकी संपत्ति पर लगे ऐसा सही नहीं है।

कालीन: आजकल कई युवतियां घर को साफ और सुंदर दिखाने के लिए पूरे घर में कालीन बिछाकर रखती हैं जो गलत है। पूरे घर में कालीन को बिछा देने से पॉजिटिव शक्तियां अंदर नहीं रह पाती।

मंदिर: घर के मंदिर में कम से कम भगवानों की मूर्ति और तस्वीर लगाने के बारें में फेंग शुई कहता है।

शीशा: घर के मुख्य द्वार पर शीशा नहीं लगाना चाहिए। बाथरुम के दरवाजे के ठीक सामने भी कोई शीशा नहीं होना चाहिए।

मध्य स्थान रखें रिक्त: भवन का मध्य भाग हमेशा खाली रखना चाहिए। इसमें क़ोई निर्माण कार्य नहीं करना चाहिए।

भूत-प्रेत से लगे डर: फेंग शुई के अनुसार अगर किसी को अपने घर में डर लगे या उनके बच्चों को रात को अकेले सोने में डर लगे तो उन्हें घर में पीले रंग का जीरो वॉट का बल्ब लगाना चाहिए।

मुरझाए और कांटेदार पौधे: मुरझाए हुए या कांटेदार पौधों को तुरंत हटा देना चाहिए। इससे नकारात्मक ऊर्जा फैलती है।

द्वार: घर का मुख्य द्वार अन्य द्वारों की तुलना में अधिक बड़ा होना चाहिए। मुख्य दरवाजा दो पल्लों का रखना चाहिए।

खिड़कियां: मुख्य द्वार के दोनों ओर खिड़कियां नहीं होने चाहिए, इससे घर के मालिक को आर्थिक परेशानियां होती है।

Copyright 2019, bhvishyasagar.com